Political | राजनैतिक

#कार्ल_मार्क्स_200_नॉट_आउट गजब का बन्दा है । इतिहास में कम ही होते हैं ऐसे जो 200 वीं सालगिरह पर भी उतने जीवन्त और प्रासंगिक बने रहें जितने कार्ल मार्क्स हैं । ● 1818 की 5 मई को जन्मे मार्क्स की 5 मई 2018 दो सौं 200वीं हैप्पी बर्थ डे है और बन्दा अंगरेजी में बोले तो […]

Read More

  साथियों, राजनीति पर एक नई सीरीज शुरू कर रहे है, जिसमे कई भाग होगे, आज हम पहले भाग से शुरुआत करते हैं । भारतीय दर्शन और उसका वर्गीय चरित्र यह बहुत ही कठिन विषय है मगर राजनैतिक समझ की शुरुआत यही से होती है, राजनीति को समझने के लिए हम पहले दर्शन को समझेगे […]

Read More

जातिवादी व्यवस्था (भाग -06) यह बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है यह छह भागो में लिखा जायेगा 01. पुराना इतिहास 02. आर्थिक पक्ष 03. राजनैतिक पक्ष 04. मेहनतकश वर्ग की वर्गीय एकता खत्म करती है। 05. उच्च जाति के लोगों को समझना होगा । 06. समाधान इन छह हिस्सो में इस विषय को कम से कम […]

Read More

जातिवादी व्यवस्था (भाग -05) यह बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है यह छह भागो में लिखा जायेगा 01. इस व्यवस्था का इतिहास 02. आर्थिक पक्ष 03. राजनैतिक पक्ष 04. मेहनतकश वर्ग की वर्गीय एकता खत्म करती है। 05. उच्च जाति के लोगों को समझना होगा । 06. समाधान इन छह हिस्सो में इस विषय को कम […]

Read More

जातिवादी व्यवस्था (भाग -04) यह बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है यह छह भागो में लिखा जायेगा 01. पुराना इतिहास 02. आर्थिक पक्ष 03. राजनैतिक पक्ष 04. मेहनतकश वर्ग की वर्गीय एकता खत्म करती है। 05. उच्च जाति के लोगों को समझना होगा । 06. समाधान इन छह हिस्सो में इस विषय को कम से कम […]

Read More

सरकार और भाजपा की दलित विरोधी मानसिकता  के विरोध में एकजुट हों नागरिक, भाइयों, बहिनो सर्वोच्च न्यायालय द्धारा अनूसूचित जाति-जनजाति उत्पीडऩ निरोधक कानून को निष्प्रभावी बना देने के निर्णय के विरोध में दलित उत्पीडि़त तबकों में नाराजगी का इजहार होना स्वभाविक था। यह इसलिए भी हुआ क्योंकि सर्वोच्च न्यायालय की यह टिपणी अतार्किक और समूचे […]

Read More

भगवा रंग के पीछे छिपी है एक विकृत मानसिकता, यह एक खास दिशा की तरफ़ ले जाने की जबरदस्ती है, ये इशारा है कि उनके दिल दिमाग में क्या है, वो क्या सोच रहे है, ये उनकी विचारधारा को प्रतिबिम्बित करता है, ये एक आइना है, जो उनके चेहरे की तस्वीर को दिखाता है । […]

Read More

जातिवादी व्यवस्था (भाग -03) यह बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है यह छह भागो में लिखा जायेगा 01. पुराना इतिहास 02. आर्थिक पक्ष 03. राजनैतिक पक्ष 04. मेहनतकश वर्ग की वर्गीय एकता खत्म करती है। 05. उच्च जाति के लोगों को समझना होगा । 06. समाधान इन छह हिस्सो में इस विषय को कम से कम […]

Read More