Farmers | किसान

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी के राज्य सचिव कामरेड अमराराम ने घड़साना में किसानों पर लाठीचार्ज एवं गिरफ्तारी की कठोर शब्दों में निंदा की है का.अमरा राम ने बताया कि किसानों द्वारा नहर में पर्याप्त पानी छोड़े जाने की मांग को लेकर घड़साना की प्रधान रानी दुग्गल गत 4 दिनों से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर […]

Read More

  देश के किसानों को इस संकट से बाहर निकलने के लिए सरकार पूर्ण कर्ज माफी क्यों नहीं कर सकती है? क्यों नहीं कर रही है? ऐसे ही महत्वपूर्ण सवालो के जबाब इस आर्टिकल में तलाशेगे । जब भी किसान कर्ज माफी की मॉग करता है, तब सरकार का पहला बयान आता है कि सरकार […]

Read More

  सरकार ने जो घोषणा की है, कि हमने न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया है, जिसमें लागत पर पचास प्रतिशत मुनाफा जोड़कर बनाया गया है, इसमें गलत फार्मूला लगाकर बनाया गया, स्वामीनाथन आयोग ने C 2 +50% इस फार्मूला से न्यूनतम समर्थन मूल्य गणना करने की सिफारिश की है, जिसको सरकार ने नहीं माना है […]

Read More

  पिछले 20 वर्षो में 3 लाख से ज्यादा किसानों ने आत्महत्या की है, पिछले कुछ समय में लगभग डेढ़ करोड़ किसानों ने खेती को छोड़कर, शहरों की तरफ पलायन किया है, पिछले कुछ वर्षो में हर वर्ष कई लाख लोग खेती छोड़ रहे है, करोड़ो खेत मजदूरों ने अपनी आजीविका चलाने के लिए शहरों […]

Read More

  साथियों, ये कृषि संकट पर नई सीरीज शुरू की जा रही है, जिसमें कई विडियो और आर्टिकल आयेगे, कोशिश होगी कि हम इस पूरी कृषि संकट को अच्छी तरह से समझ पायेगे । इसलिए हम पहले कृषि विकास की प्रक्रिया को समझते है, यही से शुरुआत करते है, इस आर्टिकल में हम प्राकृति के […]

Read More

  महाराष्ट्र किसान आन्दोलन ने बहुत सारे मैसेज दिए, जिसमें एक बड़ा मैसेज दिया, कि कई हजारों की संख्या में सड़को पर निकले 185 किलोमीटर पैदल यात्रा की, मगर सड़को पर कोई परेशानी नहीं हुई, कोई विवाद नहीं हुआ । बच्चों की वोर्ड की परीक्षा प्रभावित न हो, उसके लिए रात में दो बजे तक […]

Read More

  ये कब होगा, क्या देश के अन्नदाता की सुरक्षा का काम सरकारे कब करेगी, नरेन्द्र मोदी जी ने भी चुनाव में घोषणा की थी, उसके बाद भी, किसानों की इस मॉग से सरकार भाग रही है, इसको भी जुमला बना दिया, मगर देश के किसानों का बड़ा आन्दोलन पूरे देश में शुरू हो गया […]

Read More

  जब पूँजीपतियो का लाखों करोड़ रुपया माफ हो सकता है तो हमारे देश के किसानो का कर्जा माफ क्यों नहीं हो सकता, जब भी किसानों की बात आती है तो हमारी सरकारें कहने लगती हैं कि हमारे पास बजट नहीं है जब ये सरकारे इन पूंजीपतियों का हजारों करोड़ का कर्ज माफ करती हैं, […]

Read More