Popular

देश का किसान बर्बाद तो पूरा देश बर्बाद हो जाएगा, जानिए कैसे

  हमारा देश की अर्थव्यवस्था कृषि आधारित है, लगभग 90 प्रतिशत जनसंख्या कही न कही खेती से जुड़ी है, बहुत बड़ी आबादी का रोजगार, और उनके जीने का संसाधन कृषि है, कृषि संकट का मतलब है कि पूरी अर्थव्यवस्था पर संकट आयेगा, यह समय आज आ गया है, आज पूरे देश के हर कोने के […]

blog image

A Farmer | एक किसान

बस देख ली आजादी हामनै म्हारे हिन्दुस्तान की । सबतैं बुरी हालत सै आज मजदूर और किसान की ।। न्यूं कहो थे हाळियां नै सब आराम हो ज्यांगे -खेतों में पानी के सब इंतजाम हो ज्यांगे । घणी कमाई होवैगी, थोड़े काम होज्यांगे -जितनी चीज मोल की, सस्ते दाम हो ज्यांगे । आज हार हो-गी […]

Blog Image

द बेज कोड 2017, धारा 10 के आगे का भाग

ये कानून लोकसभा में पेश हो चुका है और अगले सत्र में पारित होने की पूरी सम्भावना है, अापका अगला भविष्य क्या है, उसको जाने । धारा 11 में, दो अलग अलग काम करने के बेज के बारे में लिखा है, धारा 12 में , पीस वर्क के काम में, ये लिखा है कि पीस […]

Recent Posts

आत्महत्याओ को रोको, फसलों का न्यूनतम समर्थन मुल्य घोषित करो ?

  हमारा देश गॉव से बनता है, किसान से बनता है, किसान की खुशहाली के बिना, देश खुशहाल नही हो सकता, हमारे देश में सबसे लिए आयोग बनते है, उनकी सिफारिशे तुरंत लागू हो जाती है, मगर किसानों का बड़ी मुश्किल से एक आयोग बना, जिसका नाम था स्वामीनाथन आयोग, जिसने किसानों के बारे में […]

Farmers

जानिए, कैसे लूटते है, देश के किसानों को ।

जब से कृषि क्षेत्र में कोपरेट जगत, बड़े पूँजीपतियो को छूट दी गई, तब से सरकारो ने इन पूँजीपतियो के पक्ष में नीतियाँ बनाई और इन्हौने किसानों से मुनाफ़ा कमाया, यह जब से शुरू हुआ, जब से ये नई आर्थिक नीतियाँ निजीकरण, उदारीकरण, भूमंडलीकरण की नई पूँजीवादी सरकारो ने इन नीतियों को अपनाया । पहले, […]

देश का किसान बर्बाद तो पूरा देश बर्बाद हो जाएगा, जानिए कैसे

  हमारा देश की अर्थव्यवस्था कृषि आधारित है, लगभग 90 प्रतिशत जनसंख्या कही न कही खेती से जुड़ी है, बहुत बड़ी आबादी का रोजगार, और उनके जीने का संसाधन कृषि है, कृषि संकट का मतलब है कि पूरी अर्थव्यवस्था पर संकट आयेगा, यह समय आज आ गया है, आज पूरे देश के हर कोने के […]

Blog Image

नोटबंदी, काला धन को सफेद करने का दुनियां का सबसे बड़ा घोटाला

विदेशों में जमा काला धन लाकर, 15 लाख रुपये हर भारतीय के खाते में मिलने, का वादा करके नरेंद्र मोदी जी चुनाव जीते, इस विदेशी धन पर तो कुछ नहीं कर पाये । ये सफेद धन था, लाखों करोड़ रुपये जो, पूँजीपतियो ने बैक से, कर्ज़ के रूप में लिए थे, वापिस नहीं दिए, उनका […]

Blog Image

8 नवम्बर को विरोध दिवस के रूप में मनेगी नोटबंदी की बरसी, वाम दलों का आव्हान

पिछली साल 8 नवम्बर को हुयी नोटबंदी की पहली बरसी पर इस 8 नवम्बर को देश भर में विरोध कार्यवाहियां की जायेंगी । देश के 6 वामपंथी दलों ने इसका आव्हान किया । नोटबंदी को लेकर उसी वक़्त वामदलों ने जो आशंका जताईं थी, वे अपने पूरे विनाशकारी असर के रूप में सामने आ गयी […]

Blog Image

अमीर और गरीब की परिभाषा ।

आज इस समझ को स्पष्ट करने की ज़रुरत है कि हम अमीर किसको कहते है और गरीब किसको कहते है, इसमें बहुत कन्फ्यूज हमारे दिमाग में है । हम इसको स्पष्ट करते है । पहले, अमीर, पूँजीपति, कोर्परेट घराने, इनका अर्थ एक ही है, जब भी हम इन शब्दो को लिखते है, तो उसका मतलब […]

Blog Image

जातिवाद से, राजनैतिक षड़यंत्र

हम समझ नहीं पाते कि जातिगत पूँजीपति राजनीति हमें गुलाम कैसे बनाती है, यह समझना आम आदमी की बस की बात नहीं है, अच्छे अच्छे हमारे समझदार साथी भी, इसको नही समझ पाते और इस जातिवाद की व्यवस्था को सही कहने लगते है । यह काफी कठिन सवाल है जिस पर हम विश्लेषण करेगे । […]

Blog Image

जाति का जहर, जहर का असर, मुक्ति का रास्ता

जाति व्यवस्था, समाज को दिमागी रूप से गुलाम बनाने की साजिश थी, आज भी ये साजिश है, जिसको एक शोषण अत्याचारी व्यवस्था के रूप में जाना जाता है, यह समाज को बॉटने और उनका पीढ़ी दर, पीढ़ी शोषण के करना, सामाजिक, मानसिक रूप से अत्याचार करना, इसके सहने के लिए, उनको तैयार करना, यह साजिश […]