लाल झंडे के लोग कितने अनुशासित है, यह महाराष्ट्र किसान आन्दोलन ने दिखाया ।

 

महाराष्ट्र किसान आन्दोलन ने बहुत सारे मैसेज दिए, जिसमें एक बड़ा मैसेज दिया, कि कई हजारों की संख्या में सड़को पर निकले 185 किलोमीटर पैदल यात्रा की, मगर सड़को पर कोई परेशानी नहीं हुई, कोई विवाद नहीं हुआ ।

बच्चों की वोर्ड की परीक्षा प्रभावित न हो, उसके लिए रात में दो बजे तक चले, ताकि सड़क जाम न हो और बच्चों की परीक्षा प्रभावित न हो ।

लाल सलाम सभी लाल झंडा लिए, लाल सेना के सिपाहियों, लाल सलाम अखिल भारतीय किसान सभा, लाल सलाम किसान सभा महाराष्ट्र के कामरेड, आपने वामपंथी विचारधारा और अनुशासन का उदाहरण दिया ।

इस जीत के लिए बधाई, संघर्ष जारी रहे, जो मिला जेब में रखे, अगली लड़ाई ऐलान करे ।

ऐसा संघर्ष पूरे देश में जरूरी है, इसके लिए भविष्य में योजना होना चाहिए ।

3 comments

    • Rajpal Badhal on March 12, 2018 at 8:48 pm

    Reply

    Lal salam
    Enklab jidabad

      • Admin on March 12, 2018 at 8:55 pm
      • Author

      Reply

      लाल सलाम

    • Sandeep on March 12, 2018 at 9:33 pm

    Reply

    Badhai un kisano ko jo ek jut hue jhande k sath.GDP ka 65% dene k bad bahri sarkar ko jagane mai mil ka pathar sabit hoga yah sanghrsh.

Leave a Reply

Your email address will not be published.