नौजवानो, भारत मॉ को, बेचने से रोकने के लिए, रोजगार हक अधिकार के लिए, तो आवाज़ उठाओ

 

*असल में भाजपा आर एस एस की भारत माता, जो अपने हाथ में देश का तिरंगा लिए है, वो इनकी भारत माता नहीं है, इनकी भारत माता भगवा झंडा लिए है वो इनकी भारत माता हैं, इस सच को देखना आर एस एस के किसी भी झंडे में तिरंगा पकड़े भारत माता नही होगी, इसलिए तिरंगे वाली भारत माता को बेच रहे हैं ।*

जो भारत माता, वन्दे मातरम, भारत माता की जय करने वाले लोगों ने हमारी तिरंगे वाली भारत माता को देशी विदेशी पूंजीपतियो को बोली लगाकर बेचना शुरू कर दिया है, बहुत कुछ बिक गया है, बाकी सब बिकने की प्रक्रिया तेजी से चल रही है, अगले कुछ महीनो में अधिकतर देश के संसाधनों को देशी विदेशी पूंजीपतियो बेच दिया जायेगा ।
इन राष्ट्रवादी कहने वाले लोगों का क्या राष्ट्रवाद है, खुलकर सामने आ गया है, सारे संसाधन बेचने के बाद, शिक्षा स्वास्थ्य के भी सभी संसाधनों को बेचने की तैयारी हो गई है, सरकारी युनिवर्सिटी को भी बेचने का काम शुरू हो गया है । सब कुछ बेचना है, बदले में हजारों करोड़ रुपये चंदा मिल रहा है, जिसके लिए कानून में भी संशोधन पारित हो गया है, किसी भी सम्पति को बेचो, दलाली में हजारों करोड़ रुपये चंदा पाओ ।
इसी रुपये से चुनाव जीतो, खूब शराब मुर्गा, बकरा खिलाओ, खूब नोट बाटो, फिर सत्ता पर कब्जा करो, फिर बचे हुये, संसाधन फिर बेचो । माता बिक रही है, भत्त ताली बजा रहे है, दिमाग को शून्य कर दिया है, इसलिए अंधभक्त कहे जाते है ।

इस राजनीति को क्या कहेंगे, यही भाजपा आर एस एस का रामराज्य है । यही पूँजीवाद है, भाजपा आर एस एस पूंजीपतियो का ही बच्चा है, जिसको वो पालते आये हैं, आज देश को उनके लिए न्यौछावर कर रहा है, खुब लूट लो, खूब सम्पति बना लो, आज पूँजीपति मालामाल हो गए हैं । सब तरफ से सब तरह से लूट मचाये हुए हैं ।कुछ आवाज़ उठाई तो पुलिस का दमन झेलो, सब जगह कब्जा कर लिया है, पूरा बहुत मत हासिल कर लिया है, सब जगह अपने लोगों को बिठा दिया है, जैसे मॉनोगे, वैसे मनायेगे । आजादी के बाद पहली बार देश में भाजपा आर एस एस ने कब्जा किया है, प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, लोकसभा अध्यक्ष, कई राज्यों में सरकारे, सभी जगह चुनाव आयोग, सी बी आई, सारी जॉच ऐजेन्सी में आर एस एस के लोग बैठा दिए गए हैं, यहॉ तक की सुप्रीम कोर्ट में भी आर एस एस समर्थको को बिठा दिया है, पूरा देश फस गया, इनके जाल में, इनका असल राष्ट्रवाद है देशी विदेशी पूंजीपतियो का देश पर कब्जा । उस पर काम बहुत तेजी से चल रहा है ।

परमानेन्ट नौकरी खत्म हो गई, ठेकेदारी प्रथा आ गई, लगाओ भगाओ, लग गया है, कभी भी नौकरी से निकाल सकते हैं, मुंह बंद रखना है, मुंह खोला, नौकरी खत्म, गुलाम रखने के सारे इंतजाम कर दिए हैं । श्रम कानून लगभग खत्म कर दिये गए हैं, जो है उनको कोई मानता नहीं, क्योकि सरकार तो अपनी ही है, क्या कर लोगे ।
किसानों को विदेशी कंपनियों के हवाले कर दिया है, फुटकर व्यापार भी विदेशी कंपनियों के हवाले कर दिया गया है, अब दिमाग लगाओ, दंगा फ़साद हिंसा करने के लिए, हिन्दूओ, ये मुसलमान हमारे दुश्मन है, सब लोग मिलकर हमे जिताओ, नहीं तो ये मुसलमान हमारे बहू बेटियो को नहीं छोड़ेगे, समझ गए ।
इसके अलावा और कुछ मत सोचना, रोजी रोटी रोजगार की बात मत करना, किसान के खेती के बारे में बात मत करना, पढ़ना लिखना तुम्हारा काम नहीं है, सस्ती शिक्षा स्वास्थ्य की बात मत करना । ये सब भगवान ने तुम्हारी किस्मत में लिखा है, जो लिखा है, वही मिलेगा, दिमाग बिल्कुल नहीं लगाना है ।
घर चलाने के लिए खुद काम करो, बीबी को काम करने भेजो, ज्यादा कमी हो रही है तो बच्चों को काम करने के लिए भेजो । मगर सरकार के ऊपर कुछ नहीं सोचना है, सरकार तो हम हिंदुओ की है, पहली बार हिंदू राष्ट्र की बात हो रही है, धर्म के लिए कुर्बानी देने के लिए तैयार रहो, राजनीति बिल्कुल नहीं करना चाहिए, ये राजनीति करना, इसको समझना, ये तुम्हारा काम नहीं है, इसके चक्कर में बिल्कुल नहीं पड़ना है, ये तो बड़े लोगों का काम है, चुपचाप भगवान ने जो दिया है उससे संतुष्टि करो, ज्यादा पैसे के लिए मत भागो, जो किस्मत में लिखा है वो कही नहीं जायेगा, जो नहीं लिखा है वो नहीं आयेगा, इसलिए दिमाग बिल्कुल नहीं लगाना है, दिमाग इसमे लगाओ कितने घंटे ज्यादा काम करना है ताकि दो पैसे मिलेगे ।
ये फालतू की नेता गिरी की बात नहीं करना, नेता कोई हमें खाने को थोड़ी न दे रही है ।
ज्यादा परेशानी हो रही है तो शराब पीकर मजे करो, सरकार ने तुम्हारे इस टेंसन को खत्म करने के लिए, हर गॉव में शराब के ठेके, देशी विदेशी दोनों मिलेगी, खुलवाये है, पैसे नहीं है तो घर का सामान बैचो, बीबी बच्चों को बेचो, नशा खूब करो । अस्पताल स्कूल ये सब फालतू का काम है इसलिए हमने स्कूल अस्पताल नही खुलवाये, शराब के ठेके खुलवाये, आज कल तो खूब भीड़ लग रही है, लोग खूशी में झूमते हुए गलियो में पड़े मिलते हैं, बोलो जय श्री राम, रामराज्य जो आ गया है । खूब झूमो ।
अपने धर्म के लिए इन मुसलमानों को मारो, हलाल कर दो, मारो मारो, कौन मारेगा, यही खुशी में झूम रहे, गली मोहल्ले में बैठे, अनपढ़ गवार, मजदूरों के नौजवान बच्चे, यही तलवारे उठायेगे, और किसको मारेगे, अपने बस्ती मोहल्ले के गरीब अनपढ़ गवार मुसलमानों के नौजवान बच्चों को, मारो मारो, खूब एक दूसरे को काटो, खून बहाओ, एक तरफ से जय श्री राम कहो और दूसरे तरफ से अल्ला हू अकबर कहो, बस लगे रहो।
जब तक हम सारे देश की संपत्ति पर पूंजीपतियो का कब्जा करा रहे हैं, बेच रहे, तिरंगा पकड़े भारत माता को, आप लोग इस तरफ नहीं देखना है, ये सब भगवान ने जो कहा है वही हो रहा है, अभी तुम्हारी किस्मत खराब है, तुम्हें कुछ नहीं मिलेगा, टेंशन हो रही है तो शराब के ठेके पर जाओ।

ये है हमारे दिमाग की हालत, हम सोशल मीडिया पर दुनियां के ऐसे फालतू के चुटकुले और ग्यान बॉटने वाले दसो पोस्ट करेगे ।
जैसे ही पेट के सवाल पर, हक अधिकार पर कोई लेख विडियो, मिलता है तो उसके लिए हमको शर्म आ जाती है, इसको शेयर नहीं कर सकते, उससे हमारी इज्जत कम हो जायेगी, लोग क्या बोलेगे, ये तो नेतागिरी करने लगा । कभी भी हम उसको महत्व नहीं देते, राजनीति तो न बाबा, ये तो बहुत ही घटिया काम है, ये हम नहीं करते, इससे इज्ज़त खराब होती है । लोग क्या बोलेगे, ये तो नेतागिरी की बात करने लगा है । मुझे तो यू टियूब पर वो गाना गाती है तो बहुत मजा आता है, वाट्स एप पर यार वो तो कुछ मैसेज ही नहीं कर रही है, मेरे दिमाग का दही बन गया, आज मूड खराब है, कल गुड नाइट नही हुई । पेट, नौकरी, देश, माता, भारत माता, ये सब गए भाड़ में ।
सब लोग शराबी नहीं है, मगर आज बड़ी संख्या में गरीब और मध्यम वर्गीय जनता इसके लत में आ गए हैं, इनका शराब की बोतल के सामने दिमाग बिल्कुल शून्य हो जाता है, सबकुछ भूल जाता है, इसलिए भाजपा कांग्रेस चुनाव की आखिरी रात में घर घर दारु के बोतल और नोट बॉटते है, ताकि इंसान अपने जीवन के कष्ट को भूल जाए ।
कितना दिमाग लगाकर राजनीति कर रहे है दुनिया के पूंजीपति, हम मेहनतकश वर्ग के लोग अपने बारे में, अपने जीवन के बारे में एक साथ खड़ा होना भी हमारी चेतना में नहीं है, हम अपने हक अधिकार जीवन के बारे में बात करना, चर्चा करना, भी उचित नहीं समझते, हमारे पास सब कुछ के लिए समय है मगर इस असल बात के समय नही है ।

मेरे नौजवानो, मेरे भाइयों, मेरे साथियों, यही है दिमागी गुलामी, नौजवानो गुलाम हो गए हो, तुम्हारा दिमाग शून्य कर दिया गया है, तुमको हिप्नोटाइज कर दिया गया है, तुम्हारे दिमाग पर ताला जड़ दिया है, ऐसे ही चुप रहोगे, ऐसे ही घुट घुट कर दम तोड़ोगे, पेट पालने के लिए बीबी बच्चे सब रात दिन किसी की नौकरी करोगे तब बड़ी मुश्किल से केवल पेट भर पाओगे, जिंदा रह पाओगे, न बच्चों को अच्छे स्कूल कॉलेज में पड़ा पाओगे, न बड़ी बीमारी होने पर अपने बच्चे और मॉ बाप को मरने से बचा पाओगे, न अपने सर पर अपनी छत बना पाओगे, अपनी कमाई से जमीन का टुकडा भी नहीं खरीद पाओगे क्योंकि इस सब पर नरेंद्र मोदी जी की सरकार ने तुम्हारी किस्मत पर ताला जड़ दिया है । करते करते जिंदगी निकल जाएगी कुछ हाथ नहीं लगेगा, तुम्हारे बच्चों का क्या होगा, सोचो । यही सच इन ठेकेदारी प्रथा में काम करने वाले मजदूरों कर्मचारियों का है । आज नौजवान बच्चों का शोषण चरम पर है, समझ लो, जिंदगी भर ऐसे ही ठेकेदारी में काम करते निकलना है, परमानेन्ट होने वाले कानून नरेंद्र मोदी जी की भाजपा आर एस एस की सरकार ने खत्म कर दिए हैं, उनकी जगह कभी भी लगाओ, कभी भी भगाओ का रास्ता बना दिया है । खुब करो जय श्री राम, खूब कमल का बटन दबाओ, तुम्हारा परमानेन्ट बटन मोदी जी ने दबा दिया है ।

इस बंद दिमाग के डिब्बे को खोलो, ये गुलामी से बाहर निकलो, अपने जीवन के बारे में सोचो, जो चाहिए उसके लिए संघर्ष के लिए तैयार होकर बाहर निकलो, राजनीति को समझो, राजनीति ही पैसे का बंटवारा करती है, इसी से रुपये आते हैं, जिनको नीतीयॉ कहते हैं । गलत नीतियों को पलटने के लिए संघर्ष करने के लिए तैयार हो जाओ।

उन सवालो का समर्थन करो जो जीवन से जुड़े हैं, सब कुछ बदल सकता है, *अपने बंद दिमाग को खोलो, शेयर करो सभी मित्रों को, दोस्तों को, इस सच को सबको समझाओ । कसम है हमारी तिरंगा लिए भारत माता की, कसम है देश की धरती माता की, देश को बेचने लूटने से बचाओ, मैसेज को कम से कम दस गुरुप में डालो, अपने लिए, अपने बच्चो के लिए, फैला दो, इन लुटेरो को हिला दो ।* नकली देशभक्तो को सत्ता से उताकर फैक दो ।

*राजनीति को समझो, भाजपा कांग्रेस पूंजीपति की पूजीवादी विचारधारा की पार्टी है, इसलिए ये पूंजीपतियो के लिए काम कर रहे हैं । मेहनतकश वर्ग, मजदूरों कर्मचारियों, किसानों, दुकानदारों, आम जनता की विचारधारा है, समाजवादी राजनैतिक व्यवस्था, जिसके लिए देश के वामपंथी दल संघर्ष कर रहे है, यही है हमारी अपनी राजनैतिक ताकत इसको मजबूत करो, इनके साथ सड़को पर उतरो, लाल झंडे लेकर, यही सच है साथियों जब जागोगे, तभी सवेरा होगा, गलत जगह से अपने घर वापस आ जाओ, इसी से सबकी भलाई होगी, खुशी आयेगी, पैसा आयेगा ।*
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.