क्यों न, किसानों की फसलों का, सरकार, न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित करे ?

 

ये कब होगा, क्या देश के अन्नदाता की सुरक्षा का काम सरकारे कब करेगी, नरेन्द्र मोदी जी ने भी चुनाव में घोषणा की थी, उसके बाद भी, किसानों की इस मॉग से सरकार भाग रही है, इसको भी जुमला बना दिया, मगर देश के किसानों का बड़ा आन्दोलन पूरे देश में शुरू हो गया ।

आज देश के किसानों को बचाना बहुत जरुरी हो गया है, इसलिए आज ये एकदम जरूरी है, इसको सरकार को तुरंत करना चाहिए, इसके साथ में यह कानून भी पारित करना चाहिए की जो भी न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किया जाएगा, उससे कम दामो पर पूरे देश में किसानों से खरीदी नहीं होगी, इसके लिए कानूनी रूप से दंड देने का कानून बनाया जाए ।

जब किसान खुशहाल होगे तभी देश खुशहाल होगा, हमारी देश की सरकारे केवल पूँजीपतियो के पीछे भाग रही है, उनका फायदा कराने में जुटी है, क्योंकि यही पूँजीपति इनको चुनावो के लिए भारी चंदा देते हैं, इसलिए पूजीवादी सरकारे केवल पूंजीपति के पीछे भाग रही है, जिससे किसानों के हित भूल गए है ।

आज देश के किसानों ने खुद अपनी मॉग को लेकर बड़ा आन्दोलन शुरू किया है, इसके साथ पूरे देश के किसानों को खड़ा होना चाहिए, दिल्ली से ये हुंकार लग गई है । जिसमें देश के किसानों के 180 संगठन शामिल हैं ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.