Articles, News | समाचार, Political | राजनैतिक

इन पॉच राज्यों के चुनाव परिणाम से आम जनता को क्या मिलेगा

पॉच राज्यों के परिणाम से आम जनता को क्या मिलेगा

चुनाव परिणाम आ गए, भाजपा हार गई और कांग्रेस जीत गई, इन राज्यों सहित देश के बड़े तबके में खुशी की लहर आ गई, फिर आम जनता को लगने लगा कि नरेंद्र मोदी जी ने झूठ बोला, जुमला मारा पिछले साढ़े चार साल में नरेन्द्र मोदी जी का एजेंडा देश के सामने आ गया, जिससे आम जनता को कुछ नहीं मिला ।

विडियो भी सुने 

अब आम जनता कांग्रेस से उम्मीद कर फिर से कांग्रेस को जिताना शुरू कर दिया ।
इसमें केवल देश की आम जनता और नौजवानो को ये समझना है कि पहले कांग्रेस किन नीतियों पर चल रही थी, जिन नीतियों पर कांग्रेस 1991 के बाद से चली, उन्ही नीतियों को अटल बिहारी सरकार ने तेजी से आगे बढ़ाया और कांग्रेस के मनमोहन सिंह जी ने भी इन्हीं नीतियों को आगे बढ़ाया, उस समय भाजपा और नरेंद्र मोदी जी ने विरोध करके देश की जनता का विश्वास जीता, 2014 में चुनाव जीतने के बाद वही किया, उन्हीं नीतियों को लागू किया, जो कांग्रेस और मनमोहन सिंह जी की सरकार कर रही थी, बहुत तेजी से लागू किया । जिससे देश के नौजवान, किसानों, व्यापारियों कर्मचारियों की हालत बद से बदतर हो गई और नीजिकरण के नाम पर कोड़ियो के भाव देश की सम्पत्ति को बेचने का काम किया, अंबानी अडानी के सामने खुलकर सरेंडर किया ।
आज फिर उसी कांग्रेस से फिर आम जनता ये उम्मीद कर रही है कि वो हमें राहत दिलायेगी, ये कैसे होगा, राहुल गांधी जी कह रहे है कि हम देश के किसानों के लिए काम करेगे, नौजवानो को रोजगार देगें, भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था देगे, ये कैसे होगा, कांग्रेस भी उसी रास्ते पर चलना है जिस पर भाजपा चल रही है, इसलिए ये अटल सत्य है कि कुछ भी नहीं बदलना है, केवल भाषण देने वाले व्यक्ति बदलना है, चेहरा बदल जायेगा, जैसे 2014 में हुआ था, इससे ज्यादा कुछ नहीं बदलना है।
हमारे देश की जनता बहुत जल्दी भूल जाती है, इसलिए कभी भाजपा और कभी कांग्रेस को चुनकर सोचते हैं कि अब कुछ बदलेगा ।
साथियों, बदलाव आर्थिक नीतियों से होता है आज कांग्रेस उन्हीं आर्थिक नीतियों पर चलेगी जिन पर नरेंद्र मोदी जी चल रहे है, कोई बदलाव है, क्या राहुल गांधी जी के पास इन अमेरिकी उदारीकरण निजीकरण भूमंडलीयकरण की नीतियों के अलावा कोई रास्ता है, कोई विकास का नया मॉडल है, हमें लगता है कि नहीं है, कांग्रेस भी उन्हीं नीतियों पर चलेगी तो यह सुनिश्चित है कि कांग्रेस के आने के बाद कोई बदलाव नहीं होने वाला, यदि बदलाव करना है तो इन आर्थिक नीतियों को बदलना होगा, इन आर्थिक नीतियों का विकल्प लाना होगा, इन आर्थिक नीतियों का विकल्प हमारे देश में केवल वामपंथी दलो के पास है, वामपंथी विचारधारा के पास है, जो समाजवादी व्यवस्था लाने की बात करते है, यदि इन व्यवस्था को बदलना है तो भाजपा कांग्रेस दोनों को हराना होगा और वामपंथी दलो को राजनीति में लाना होगा, तभी इन देश के नौजवानो किसानों व्यापारियों को स्थाई रूप से राहत मिल सकती है, यदि आप भाजपा का विकल्प कांग्रेस और कांग्रेस का विकल्प भाजपा चुनेगे तो गारंटी है कि आम आदमी के जीवन में कोई बदलाव नहीं आयेगा । यही सच है, क्या हम और हमारे देश के देशभक्त इस नीति को समझते है, या इस सच्चाई को समझते है, मुझे लगता है कि नहीं, इसलिए आपकी और हमारी जिम्मेदारी है कि देश के लिए, देश की आम आदमी के लिए, इस समझ को सबके पास पहुंचाने में सहयोग करे, यह राष्ट्र के लिए बहुत बड़ा काम होगा । यही व्यवस्था परिवर्तन का रास्ता खुलेगा ।

Tags: ,

Leave a Comment