Our Political View | हमारी राजनैतिक समझ

हमारे देश के प्रत्येक नागरिक को राजनैतिक समझ को जानना, समझना और राजनैतिक समझ रखना, उस पर चर्चा करना और उसके अच्छे बुरे तर्कों को समझना, हम सभी क लिए अवश्यक है | इसके बाद उसको स्वयं अपनी समझ बनाना कि वह किस राजनैतिक विचार के साथ जाएगा, अपने जीवन में किस राजनैतिक धरा को स्वीकार करेगा, क्योकि पूरे देश में जो भी घटनाएँ घटती है, उसके पीछे एक सोची समझी राजनैतिक चेतना होती है, जो हमारे जीवन की पूरी दशा तय करती है | राजनैतिक सत्ता ही देश बनाती है, और यह निर्भर करता है आम जनता कि समझ पर

Purpose | वेबसाइट बनाने का उद्देश

यह वेबसाइट बनाने का उद्देश आप सभी को वामपंथी विचारधारा से परिचित करना है | हम आपको बताना चाहते है की, वामपंथी विचारधारा क्या है ? वामपंथी क्या चाहते हैं ? वामपंथी विचारधारा की विभिन्न क्षेत्रो में क्या समझ है ? राजनैतिक समझ क्या है ? राजनीती में किन नीतियों पर चलना चाहते हैं ? कैसे भारत का निर्माण करना चाहते हैं ? इनकी भ्रष्टाचार के बारे में क्या समझ है ? जातिवाद, धर्म, रीती-रिवाज, सामाजिक बुराइयाँ, कूटनीतियाँ, अंध-विश्वास जैसे सवालों पर हम क्या सोचते हैं | इस विचार धारा का बुनियादी नियम क्या है, इस प्रकार न जाने कितने अन समझे और सन सुलझे सवाल वामपंथ के बारे में नौजवान के मन में हैं |

वामपंथी विचारधारा क्या है ?

नौजवानो को इस विचारधारा को समझना अत्यंत आवश्यक है, किसी भी देश में नौजवान देश के विकास की धुरी होते है, उनकी समझ, लगन, विचार ही राष्ट्र बनाते हैं, देख में अभी खूब लेफ्ट राइट चल रहा है, चाहे केरला, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, बिहार, पूरे देश में, एक तरफ वामपंथी विचारधारा प्रखर हो रही है, वहीं दूसरी पूंजीवादी व्यवस्था को कुचलने की कोशिश में लगी है, आज देश की नई पीढ़ी बहुत ही कम शब्दो में इसको समझना चाहती है, अब हम इसके मुख्य विषय पर बात करते है ।नौजवानो को इस विचारधारा को समझना अत्यंत आवश्यक है, किसी भी देश में नौजवान देश के विकास की धुरी होते है, उनकी समझ, लगन, विचार ही राष्ट्र बनाते हैं, देख में अभी खूब लेफ्ट राइट चल रहा है, चाहे केरला, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, बिहार, पूरे देश में, एक तरफ वामपंथी विचारधारा प्रखर हो रही है, वहीं दूसरी पूंजीवादी व्यवस्था को कुचलने की कोशिश में लगी है, आज देश की नई पीढ़ी बहुत ही कम शब्दो में इसको समझना चाहती है, अब हम इसके मुख्य विषय पर बात करते है । वामपंथी विचारधारा क्या है । 

Latest Articles

10 सितम्बर के, भारत बंद को, मध्य प्रदेश में भी बंद को, सफल बनाये : वामपंथी दल

भोपाल। 10 सितम्बर के भारत बंद को मध्यप्रदेश में भी सफल बनाने का आह्वान वामपंथी पार्टियों ने किया है। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव जसविंदर सिंह,भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सहसचिव रुपसिंह चौहान, एसयूसीआई(सी) के सचिव प्रताप सामल, सीपीआई(एमएल) के देवेन्द्र सिंह चौहान ने प्रेस को जारी एक विज्ञप्ति में कहा कि मोदी सरकार के […]

घड़साना में किसानों पर लाठीचार्ज, रानी दुग्गल को जबरन अस्पताल में किया भर्ती – अमराराम जी ने निंदा की

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी के राज्य सचिव कामरेड अमराराम ने घड़साना में किसानों पर लाठीचार्ज एवं गिरफ्तारी की कठोर शब्दों में निंदा की है का.अमरा राम ने बताया कि किसानों द्वारा नहर में पर्याप्त पानी छोड़े जाने की मांग को लेकर घड़साना की प्रधान रानी दुग्गल गत 4 दिनों से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर […]

27 लाख आँगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका, 8 करोड़ बच्चों और 2 करोड़ महिलाओं के निवाले छीनने की तैयारी

ऑगनवाड़ी कार्यकर्ता सहायिका आई सी डी एस बचाओ : आई सी डी एस को मजबूत करो — आई सी डी एस में पोषण आहार के बदले नकद राशि देने का विरोध करो — आंगनवाड़ी केन्द्रों में पका हुआ गर्म खाना बंद करने का विरोध करो — आंगनवाड़ी की जगह नर्सरी स्कूल खोलने का विरोध करो […]

शिक्षा का निजीकरण, नई पीढ़ी का वर्तमान और भविष्य दोनों बर्बादी की ओर

राम चंद गाजियाबाद (यूपी) में एक कारखाने में कार्य करता है और लगभग 10,000 रुपये महीना कमाता है। उसके दो बच्चे हैं, 9 वर्षीय अरुण और 7 साल की सविता। उसने दोनों बच्चों को स्थानीय सरकारी स्कूल में पढ़ाना शुरू कर दिया था लेकिन उसने महसूस किया कि बच्चे वास्तव में कुछ भी नहीं सीख […]

वसुंधरा सरकार कर्मचारियों का राजनीतिकरण बन्द करे -अमराराम

वसुंधरा सरकार आगामी चुनाव के राजनीतिक फायदे के लिए लगातार सरकारी धन का दुरूपयोग कर रही है। यह सरकार 5 सितम्बर को ‘शिक्षक सम्मान’ के नाम पर 8.51करोड़ रुपए के सरकारी धन को बर्बाद करने जा रही है। 50 हज़ार शिक्षकों को जयपुर इस समारोह के लिए बुलाया जा रहा है। यह पूरी तरह से […]

फिक्स टर्म कर्मचारी, नौजवान का वर्तमान और भविष्य दोनों बर्बाद

फिक्स टर्म कर्मचारी  मोदी की अगुवाई वाली भाजपा सरकार ने निश्चित अवधि के रोजगार (फिक्स्ड टर्म एम्प्लॉयमेंट) को सभी क्षेत्रों में विस्तारित करने वाली गजट अधिसूचना जारी की है। यह औद्योगिक रोजगार (स्थायी आदेश) केंद्रीय नियमों में संशोधन कर किया गया है। इसका मतलब है कि किसी भी क्षेत्र में, नियोक्ता एक कामगार को निश्चित […]

आम जनता की पहुंच से बाहर निकलती, स्वास्थ्य व्यवस्था, सरकार की गलत नीतियों का परिणाम

स्वास्थ्य योजना  स्वास्थ्य हमारा अधिकार है। नरेंद्र मोदी नीत वर्तमान भाजपा सरकार दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था होने का दावा करती है, लेकिन हमारे देश में, स्वास्थ्य सेवाएं केवल उन लोगों के लिए हैं जो इसकी कीमत का भुगतान कर सकते हैं। आज 195 देशों में हमारी स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली का स्थान काफी […]

श्रम कानूनों में परिवर्तन, नौजवानों का वर्तमान और भविष्य दोनों बर्बाद

श्रम कानूनों में मजदूर विरोधी संशोधन बन्द करो! बिना किसी अपवाद या छूट के सभी बुनियादी श्रम कानूनों को सख्ती से लागू करना सुनिश्चित करो! नियोक्ता श्रम कानूनों को टालते क्यों हैं? एकदम सरल है! अपने मुनाफे में वृद्धि करने के लिए! लेकिन सरकार श्रम कानूनों से बचने की छूट क्यों देती है? आमतौर पर […]